जय राम ठाकुर
मुख्यमंत्री, हिमाचल प्रदेश एवं अध्यक्ष अकादमी हिमाचल प्रदेश

हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी 1972 से प्रदेश की पारम्परिक, लोकसंस्कृति, भाषा, साहित्य और कलाओं के संरक्षण, प्रकाशन प्रलेखन तथा प्रचार प्रसार में कार्यरत है। अकादमी द्वारा प्रदेश के लेखकों कलाकरों को विभिन्न योजनाओं के माध्यम से प्रोत्साहन तथा सम्मान प्रदान किया जाता है।

श्री गोविन्द ठाकुर
माननीय शिक्षा, भाषा और संस्कृति मंत्री एवं
अध्यक्ष अकादमी कार्यकारी परिषद

हिमालय क्षेत्र सांस्कृतिक विरासत तथा ज्ञान परंपरा के लिए विश्व विख्यात है। हिमाचल प्रदेश में पारंपरिक लोक संस्कृति, कलाओं और शिल्प की समृद्ध परंपरा है। हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी हिंदी, संस्कृत, हिमाचली, ऊई और अंग्रेजी भाषाओं क माध्यम से साहित्य और संस्कृति के क्षेत्र में साहित्यकारों तथा कलाकारों के लाभ के लिए कार्य कर रही है। पुस्तकों पत्रिकओं का प्रकाशन तथा साहित्यिक कार्यक्रमों का आयोजन और पुस्तकालय का संयोजन अकादमी का प्रमुख कार्य है।

डॉ कर्म सिंह
सचिव- हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी

हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी ने 2 अक्टूबर, 1972 से अब तक अपनी विभिन योजनाओं संस्कृति, भाषा, भाषा और साहित्य के क्षेत्र में महत्वपूर्ण उपलब्द्धियाँ प्राप्त की हैं। पुस्तकों का पत्रिकाओं का प्रेक्षण, सांस्कृतिक सर्वेक्षण, शब्दकोष प्रलेखन, फिल्म निर्माण, पुस्तकों की खरीद, जयंती समारोह, सार्वजनिक पुस्तकालय, संस्थाओं का विञीयानुदान, दस्तावेज़ीकरण, डिजिटलीकरण, साहित्य योजना, साहित्य पुरस्कार, कला सम्मान, शिखर सम्मान इत्यादि योजनाओं का साहित्यकारों, कलाकारों के प्रोत्साहन, पुरस्कार, सम्मान के लिए सफल सञ्चालन किया जा रहा है

प्रकाशन सूची