अकादमी परिचय

हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी के बारे में

हिमाचल प्रदेश विधानसभा द्वारा हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी की स्थापना एक स्वायत्त संस्था के रूप दिनांक 30.10.1970 को पारित प्रस्ताव के अन्तर्गत की गई है जिसका संविधान अप्रैल, 1971 को अधिसूचित किया गया। 2 अक्तूबर, 1972 को अकादमी का उद्घाटन हुआ तथा इसके संविधान में निर्दिष्ट परियोजनाओं के अनुसार प्रदेश की कला, संस्कृति एवं भाषा के संरक्षण, उन्नयन तथा प्रचार-प्रसार के लिए कार्य आरम्भ हुआ।

अकादमी के संविधान में कला संस्कृति तथा भाषा की परिभाशाएं निम्न प्रकार से है:-

  • कला – वस्तुकला, मूर्तिकला, पेंटिग, सगीत, नृत्य और काव्य तथा नाटक।
  • संस्कृति – हिमाचल प्रदेश के विभिन्न जनपदांे में प्रचलित पारम्परिक संस्कृति तथा लोकसाहित्य एवं लोकविश्वास।
  • भाषा – हिन्दी उर्दू, अग्रेजी संस्कृत तथा प्रदेश के विभिन्न जनपदों में बोली जाने वाली भाषा।