ललित कला एवं निष्पादन कला सम्मान योजना नियम

उद्देश्य

  1. ललित कला और निष्पादन कला के क्षेत्र में हिमाचल प्रदेद्वा के प्रतिभाशाली कलाकारों को उनके आजीवन योगदान के लिए सम्मानित करना।
  2. ललित कलाओं में पारंपरिक, लोक एवं आधुनिक चित्रकला, मूर्तिकला, काष्ठकला, छायांकन, हस्तषिल्प कला, कार्टून, रेखांकन आदि विधाएं शामिल होंगी।
  3. निष्पादन कला में पारंपरिक, लोक एवं समकालीन रंगमंच, संगीत एवं नृत्य की विभिन्न विधाएं शामिल होंगी।
  4. उक्त दोनों कलाओं में समस्त विधाओं में प्रविश्टियां मंगवा कर उत्कृष्ट योगदान के लिए कलाकार को सम्मानित किया जाएगा।

सम्मान संख्या

इस योजना के अंतर्गत ललित कला और निष्पादन कला के लिए सामान्यतः प्रतिवर्ष एक-एक सम्मान प्रदान किया जाएगा। कार्यकारी परिषद को पुरस्कारों की संख्या बढ़ाने का अधिकार होगा।

सम्मान राशि एवं अलंकरण

साहित्य पुरस्कार के समान होंगे।

विज्ञापन

  1. कलाकारों की प्रविष्टियां आमंत्रित करने के लिए तीन प्रमुख समाचार पत्रों में विज्ञापन दिए जाएंगे।
  2. अंतिमतिथि इसलिए घोषित की जाएगी, ताकि समय पर अधिक से अधिक प्रविष्टियां आ पाएं।

सम्मान योजना संचालन नियम

  1. इस सम्मान के लिए ललित एवं निष्पादन कलाकार स्वयं अपनी प्रविष्टि दे सकेंगे अथवा कोई पंजीकृत संस्था/अन्य व्यक्ति भी कलाकार के जीवनवृत्त एवं समग्र योगदान के विवरण सहित कलाकार के नामों की संस्तुति कर सकेंगे।
  2. अंतिम घोषित तिथि के उपरांत प्राप्त प्रविष्टियों पर और प्रविष्टियां प्राप्त न होने पर निर्णायक मंडल स्वयं भी स्वविवेक से किसी कलाकार के नाम पर विचार कर सकता है, क्योंकि यह सम्मान योजना है, पुरस्कार योजना नहीं।

कलाकार की पात्रता

  1. हिमाचल प्रदेश के बोनाफाईड कलाकार इस योजना में भाग लेने के लिए पात्र होंगे।
  2. विज्ञापन प्रकाषित करने से पूर्व प्राप्त प्रविष्टियां भी इस योजना के अंतर्गत शामिल की जाएंगी।
  3. अकादमी तथा भाषा एवं संस्कृति विभाग, हिमाचल प्रदेष के पदस्थों के कार्यरत रहने की अवधि तक उनकी प्रविष्टियां सम्मान के लिए स्वीकार्य नहीं होंगी।

निर्णायक मंडल

प्रत्येक कला सम्मान के लिए निर्णायक मंडल में 5 सदस्यों का पैनल तैयार किया जाएगा  जिनमें इसके अध्यक्ष एवं सचिव अकादमी के अतिरिक्त अन्य कोई 3 सदस्य निम्नानुसार होंगे:-  
1. निदेषक, भाषा-संस्कृति विभाग, हि.प्र. एवं उपसभापति कार्यकारी
परिषद
अध्यक्ष
2. राज्य सम्मान/अकादमी सम्मान प्राप्त संबंधित विधा के कलाकार सदस्य
3. अकादमी की सामान्य परिषद से संबंधित विधा के सदस्य कलाकार सदस्य
4. हिमाचल प्रदेष के संबंधित विधा के कलाकार/विषेषज्ञ सदस्य
5. देष के बाहर के राष्ट्रीय स्तर के कलाकार/राष्ट्रीय अकादमियों के
सचिव अथवा सदस्य
सदस्य
6. सचिव अकादमी सदस्य सचिव

निर्णायक मंडल का गठन माननीय मुख्यमंत्री, हिमाचल प्रदेष एवं अध्यक्ष द्वारा किया जाएगा।

सम्मान की स्वीकृति

चयनित कलाकारों को सम्मान देने के लिए निर्णायक मंडल द्वारा लिए गए निर्णय की अंतिम स्वीकृति माननीय मुख्यमंत्री, हिमाचल प्रदेष एवं अध्यक्ष अकादमी द्वारा प्रदान की जाएगी।

सम्मान समारोह

‘साहित्य पुरस्कार नियम‘ के ‘पुरस्कार समारोह‘ मद 14 की तरह।

विविध नियम

  1. ‘साहित्य पुरस्कार नियम‘ की तरह, लेकिन एक बार ललित कला अथवा निष्पादन कला के क्षेत्र में कलाकार को सम्मानित किए जाने पर उसे दोबारा उस कला के क्षेत्र में सम्मानित नहीं किया जाएगा, लेकिन दूसरी कला के क्षेत्र में तीन वर्ष उपरांत सम्मानित किया जा सकता है यदि वह उक्त दोनों कला. क्षेत्र में पात्र है यानी निष्पादन कला के क्षेत्र में सम्मानित कलाकार को ललित कला के क्षेत्र में और ललित कला के क्षेत्र में सम्मानति कलाकार को निष्पादन कला के क्षेत्र में पुनः सम्मानित किया जा सकेगा।
  2. किसी भी कला.क्षेत्र में पा़त्र व्यक्ति न मिलने पर उस वर्ष पुरस्कार नहीं दिया जा सकेगा।

नियमों में संषोधन
इन नियमों में संषोधन करने का अधिकार कार्यकारी परिषद का होगा।