प्राचीन काल से जहां हिमाचल प्रदेश अपनी विषिष्टताओं के लिए प्रसिद्ध है वहीं प्रदेश देव संस्कृति का संगम भी रहा है। एक ओर जहां प्रकृति ने हिमाचल प्रदेश को नदियों ,झीलों, पर्वत श्रृंखलाओं तथा सममतल भू-भागों की अलौकिक छटा से खूब सजाया है वहीं दूसरी ओर हिमाचल प्रदेश अपनी सांस्कृतिक विरासत, पारंपरिक लोककला, पर्यटन, बागवानी, हस्तकला, कांगडा लघु चित्रकला के लिए भी प्रख्यात हैं।
हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी प्रदेश के इसी सांस्क्रतिक इतिहास के संरक्षण और पदोन्नति के कार्य में सर्मपित है।

कार्यक्रम

अकादमी के स्थाई कार्यक्रम

अकादमी में रोज़ाना हो रहे कार्यक्रम